Home » Blog » Nakhun dekh kar jaane apna bhagya

Nakhun dekh kar jaane apna bhagya

हाथ के नाख़ून

हाथ के नाखूनों से जातक के स्वभाव की सौभाग्य का पता चलता है । अँगुलियों का प्रभाव भाग जितना  लम्बा हो, उसकी आधी लम्बाई नाखूनों की होना उत्तम माना गे है । यह आगे की और कुछ बड़े, पीछे की और कुछ छोटे होने चाहिए । अगर यह निर्मल तथा ललाई लिए हुए है और इनकी उचाई कछुए की पीठ की तरह उन्नत हों तो जातक उच्च पद प्राप्त करता है ।

जिसके हाथ में नाख़ून पीलापन लिए हुए हल्दी टूटने बाले हों, वह व्यक्ति नपुंसक होता है ।

जिसके हाथ में नाखूनों के अग्र  भाग फैले हुए हों, सीप की शक्ल के हों, फाटे ही दिखाई दें या छोटे हों तो जातक दरिद्री होता है ।

अगर नाखून त्वचा में घुसे हुए हों और रूखे हों अर्थात कांतिहीन हों तो जातक सुखी नहीं रहता है ।

अगर नाखूनों पर श्वेत बिंदु हों तो जातक पराधीन होकर अपना जीवन व्यतीत करता है –

  • अगर व्यक्ति के नाख़ून शेर के नाखूनों  जैसे हों तो जातक क्रूर होता है ।
  • यदि स्त्री के हाथ के नाख़ून अंगुली के अगर भाग के कुछ आगे निकले हुए, गुलाबी रंग के हों तो स्त्री एश्वर्यशालिनी होती है ।
  • स्त्री के नाखूनों पर सफ़ेद बिंदु हो तो वह व्यभचारी होती है ।
  • मोटे तौर पर हम नाखूनों को चार भागों में बाँट सकते हैं
  1. लम्न्बे नाखुन 
  2. चौड़े नाखुन
  3. छोटे नाखुन 
  4. तंग नाखुन 

लम्बे नाखुन :- लम्बे नाखुन वाले व्यक्तियों की वायु प्रक्रति होती है । रात को सोते समय तनिक भी असाबधानी से बरसात या जोड़ों में इनकी गर्दन या कमर अकाद जाती है । इनका सीना और फेफड़े कमजोर होते हैं । विशेषकर उन व्यक्तियों में यह आम बात होती है जिनके नाखूनों पर चन्द्र चिन्ह न हों, नाखूनों पर घाटियाँ हों और टेढ़े-मेढ़े होकर मांस पेशियों में घँसे हुए हों । इनको नजला, जुकाम, इन्फलंएजा, बच्चों को निमोनिया की शिकायत रहती है । इनका स्वभाव भी चिडचिडा हो जाता है ।

चौड़े नाखुन :- चौड़े नाखुन बाले व्यक्तियों को हमेशा कोई न कोई बीमारी लगी रहती है । इनके गले में गन्सिल, मुह में काक बढ़ जाना तथा गर्मी में छले पद जाना, जिगर या तिल्ली का क्रमशः ख़राब रहना, जीभ के दोनों किनारों का मॉस ऊँचा उठ जाना । यह व्यक्ति क्रोधी होते हैं । इन्हें मिडी अथवा बारी के आने से बुखार बहुत सताते हैं । अगर इन्हें नशीली बस्तुओं वस्तुओं के सेवन का शौक हो जाएँ तो इन्हें मृगी बेहोशी आदि के रोग हो सकते हैं ।

छोटे नाखुन :- जिन व्यक्तिओं के हाथ में छोटे नाखुन हों वे मनुष्य सदा ही किसी न किसी दर्द से पीड़ित रहते हैं । सिरदर्द, आँख दर्द, कानदर्द अक्सर होता है और बड़ी जल्दी बात को भूल जाते हैं । परिश्रमी और मेहनती होते हुए भी अधिक देर तक लगातार काम नहीं कर सकते । चंचल स्वभाव होने के कारण हंसी मजाक में समय व्यतीत करते हैं । यह व्यक्ति किसी का रौब अथवा दबाब सहन नहीं कर सकते अतः विशेष उन्नति नहीं कर पाते ।अगर इनके नाखुन टेढ़े तिरछे मुड़े हुए, मांस पेशियों के अन्दर धंसे हुए हों तो इन्हें ह्रदय रोग, उन्माद रोग, अर्ध-भंग आदि रोग हो सकता है ।

तंग नाखुन :- जिन व्यक्तिओं के हाथ में नाखुन अत्यंत तंग व छोटे हों, देखने में भद्दे लगते हों, वह व्यक्ति ह्रदय और विचारों के भी तंग होते हैं । इन लोगों में दयाभाव कुछ कम होता है और अहंभाव कुछ अधिक होता है । यह लोग कमजोर स्वास्थ्य, डरपोक और चिडचिडे स्वभाव के होते हैं । यह लोग कार्य करने में भी सुस्त और ईर्ष्यालु प्रक्रति के होते हैं । शक्की मिजाज होते हैं  तथा दूसरों की आलोचना करने के लिए मौके की तलाश में रहते हैं ।

आपके भाग्य में क्या होना है और क्या हो चूका यही सब बैटन की अधिकतम जानकारी के लिए अभी क्लिक करें 

Leave a Reply