Mantra-Tantra

“मंत्र तंत्र” दो शब्द हैं जो हिंदी में उपयोग होते हैं और वे आध्यात्मिक और तांत्रिक ज्ञान के संदर्भ में किए जाते हैं:

  1. मंत्र (Mantra): मंत्र एक विशेष शब्द या वाक्य होता है जिसे ध्यान और ध्यान के प्रयोग के लिए उपयोग किया जाता है। यह संज्ञानात्मक और आध्यात्मिक उद्देश्यों की प्राप्ति के लिए एक साधना हो सकता है। मंत्रों का उच्चारण और जाप स्वाधीनता, शांति, ध्यान, आध्यात्मिक विकास आदि के लिए किया जाता है।
  2. तंत्र (Tantra): तंत्र एक प्राचीन शास्त्र है जिसमें आध्यात्मिकता, मनोविज्ञान, ज्योतिष, योग, उपासना और विभिन्न विशेष विधियों के बारे में जानकारी होती है। तंत्र के अनुसार, मानव जीवन के विभिन्न पहलुओं को समझने और समृद्धि प्राप्त करने के लिए विशेष तकनीकों का उपयोग किया जा सकता है।

ये दोनों शब्द आध्यात्मिकता और तांत्रिक परंपराओं में महत्वपूर्ण हैं और विभिन्न परंपराओं में इनका उपयोग अलग-अलग तरीकों से होता है। यहां ध्यान देने योग्य है कि आध्यात्मिकता और तंत्र के विभिन्न पहलुओं को समझने के लिए विस्तार से अध्ययन की आवश्यकता होती है।