Home » Blog » Grah Vichar

Grah Vichar

Grah vichar

जब कोई गृह अशुभ होता है तब उसके फल के संकेत तथा लक्ष्ण जातक के जीवन में पाए जाते हैं. इन लक्षणों के अध्ययन से फ़िलहाल कौन गृह अशुभ फल दे रहा है, इसकी जानकारी प्राप्त होती है. ऐसे अशुभ गृह के कुप्रभाव से बचने के लिए कौन-सा उपाय कारगर हो सकता है, इसकी जानकारी यहाँ दी जा रही है. 

सूर्य- सूर्य अशुभ होने पर शारीर अकड़ हाता है. मुंह में बार-बार थूक आता है. घर में लाल रंग की गाय या भूरी भेंस हो तो वह मर जाती है.

उपाय- गुनगुना पानी पिने के बाद ही कोई कार्य शुरू करें.

चन्द्र- चन्द्र अशुभ होने पर घर के दुधारू पशु या घोड़े की मौत होती है. घर के नल, तलाब सूख जाते हैं, किसी भी बात का अनुभव करने की शक्ति का नाश हो जाता है, ऊँचा सुनाई देता है, द्रष्टि कमजोर हो जाती है, स्वाद एवं सुगंध को परखने की शक्ति कम हो जाती है.

उपाय- बड़े-बुजुर्गों का चरण स्पर्श कर उनका आशीर्वाद लें.

मंगल- मंगल अशुभ होने पर सन्तान जन्म लेकर मर जाती है. अघत्व आता है, आँखें काली पद जाती हैं. शारीर शिथिल हो जाता है. शक्ति होते हुए भी संतान नहीं होती, शारीर में रक्त की कमी हो जाती है, क्रोध बढ़ता है, बात-बात में लड़ाई झगड़े होते हैं.

उपाय- आँखों में सफ़ेद सुरमा डालें.

बुध बुध अशुभ होने पर दांत अधिक टूटते हैं, स्त्री समागम की शक्ति क्षीण हो जाती है, सूंघने की क्षमता कम होती है.

उपाय- दांतों को साफ़ रखें, नाक छिदवा लें.

ब्रहस्पति ब्रहस्पति अशुभ होने पर सर के बाल झड जाते हैं. गले में खराबी रहती है. सोने की चोरी होती है. बिना कारण शिक्षा में व्यवधान आता है. अपयश हाथ लगता है. अफवाहों का शिकार होना पड़ता है.

उपाय – टोपी, पगड़ी पहिने या ललाट पर पीला या केसर का तिलक करें, कोई भी काम करने से पहले नाक साफ़ कर लें. नाक का पानी सूख जाना अच्छा माना जाता है.

शुक्र- शुक्र अशुभ होने पर अद्रश्य कारणों से या बिना किशी रोग के कारण अंगूठा निष्क्रिय हो जाता है. चमड़ी में सीकर उत्पन्न होते हैं. चर्मरोग या स्वपन दोष होता है.

उपाय- साफ़-सुथरे कपडे पहिनें.

शनि- शनि अशुभ होने पर माकन गिर जाता है. आग लगती है, भौहों के बाल झड जाते हैं. आखों की पलकें ख़राब हो जाती हैं. घर में भैंस हो तो वो मर जाती है.

उपाय- बबूल की दातुन से दांत  साफ़ करें. लोहा दान करें. लगातार चालीस दिनों तक कौओं को रोटी खिलाएं.

रहू- रहू अशुभ होने पर घर में पाले हुए काले कुत्ते की मौंत हो जाती है या फिर वह खो जाता है. हाथ के नाख़ून काले पड़ जाते हैं. बुद्धि भ्रष्ट हो जाती है. शत्रुओं की संख्या में बढ़ोत्तरी होती है.

उपाय- संयुक्त परिवार में रहें. ससुराल के साथ संबंध न बिगाड़ें. सर पर चोटी (शिखा) रखें.

केतु- केतु के अशुभ होने पर कैरों के नाख़ून काले हो जाते हैं. मूत्र संबंधी बीमारी उत्पन्न हो जाती है. सन्तान को रोग, परेशानी होती है.

उपाय- कुत्ता पालें, कान छिदवा लें.

Tags:

Leave a Reply