Home » Samudrik Shastra

Samudrik Shastra

samudrik shastra

sharir ke angon par rom or hai

Sharir par baal hone ka matlab

महिलाओं में – यदि किसी महिला जातक के हाथों पर बाल हों, तो वे उसकी निर्दय प्रवृत्ति का संकेत देते हैं अथवा एसा महिला में पुरुषोचित गुण अत्यधिक मात्र में पाए जाते हैं. वह ह्रदय हीं व् क्रूर-कर्म करने वाली होती है. पुरुषों में – यदि किसी पुरुष जातक के हाथों पर, हलके बाल हों तो वह, वव्हार कुशल उर्जावान… Read More »Sharir par baal hone ka matlab

life after marriage quotes in Hindi

Life after marriage quotes in hindi

1-किसी स्त्री की संपत्ति का अधिकार मिलेगा या नहीं ? करतल में मार्शल रेखा रहने पर व्यक्ति किसी स्त्री की संपत्ति का अधिकारी होता है. 2- किसी स्त्री के द्वारा धन हानि तो नहीं होगी ? दो-तीन सीधी रेखायें अनामिका अंगुली के तीनों पर्वों में जाने से व्यक्ति को किसी स्त्री के द्वारा धनहानि का होना समझा जाता है. 3-… Read More »Life after marriage quotes in hindi

mrag jaati ke man

Prem v aakarshan hi jeevan ka uddheshya

शशक जाति के पुरुषों के जीवन चरित्र:- इस जाति के पुरुषों के केश कोमल, नेत्र विशाल होते हैं. ये शांत और शांतिपूर्वक शासन में तत्पर रहते हैं इनके शारीर के अंग सूक्ष्म, स्वयं अत्यंत पवित्र और मुख पूर्ण चंद्रमा के सामान आनन्द दायक, दांत चिकने, बराबर और चौड़े होते हैं. इनके हाथ, पैर, जानु, पडू, ग्रीवा तथा जंघा में कुछ… Read More »Prem v aakarshan hi jeevan ka uddheshya

Bhagya sambndhi prashnottar

Dhan rekha

प्रश्न 1 – सौभाग्यशाली होने का योग है या नहीं ? उत्तर – (क) आयुरेखा से रविरेखा उत्पन्न होने पर व्यक्ति सौभाग्यशाली होता है. हाथ के पर्वत भी यदि उच्च हो. (ख) मणिबंध से भाग्यरेखा निकल कर माध्यम अंगुले के दुसरे पर्वत तक जाती है तो व्यक्ति सौभाग्यशाली होता हगे. प्रश्न 2 – दैवदुर्विपाक ( दुर्भाग्य ) तो नहीं है… Read More »Dhan rekha

jivan sambandhi prashnottar

Vidhya rekha

प्रश्न 1 – शारीरिक और मानसिक शांति रहेगी या नहीं ? उत्तर – यदि करतल तमाम रेखाओं से भरा हुआ होता है तो ऐसे व्यक्ति को प्रायः शारीरिक और मानसिक अशांति रहती है. यह लक्षण न होने पर शारीरिक और मानसिक शांति रहती है. प्रश्न 2 -क्या शारीरिक पीड़ा रहेगी ही ? उत्तर – यदि व्यक्ति के हाथ में आयुरेखा… Read More »Vidhya rekha

chakr vichar

Chakra Vichar in fingertips

चक्र विचार तथा फल :- एक चक्र वाचाल बखाने, दुई चक्र गुडगान बहु जाने. तीन चक्र वाणिज्य धन जावे, चारि चक्र सौं दरिद्र जन जावे. पाँच चक्र सर्वांग विलासा छठा चक्र रस-काम दुलासा.  सात चक्र बहु सुख को साजा आठ चक्र रोगी कंजा.  एक चक्र – जिस जातक के दौनों हाथ की अँगुलियों में, एक चक्र हो तो जातक तीव्र बुद्धि… Read More »Chakra Vichar in fingertips

Dreams

Dream

अ, आ 

अंक देखना –

शुभ एवं विजय का प्रतीक ,

अंकों से बनी संख्या देखना –

भाग्य विधायक प्रतीक ,

आँगन देखना (अपने घर का ) –

अशुभ सूचक ,

आँगन ( दुसरे के घर का ) –

शुभ सूचक,

अंगभंग देखना ( स्वयं का )

शीघ्र ही अनुकूल एवं शुभ समाचार प्राप्ति ,

अंगभंग देखना ( दूसरों का )

दुर्घटना का सूचक ,

अंगूठी देखना

शीघ्र ही सगाई या शादी ,

अंधकूप देखना –

अधिक घटा, पराजय या परेशानी ,

अँधा देखना –

कष्टप्रद स्थिति ,

अँधा देखना ( स्वयं को )

विशेष शुभ ,

अनाथालय देखना –

स्थानान्तरण, आर्थिक हनी या धोखा ,

अन्न देखना –

शीघ्र ही शुभ समाचार मिलना ,

अपमान देखना –

मुकद्दमे में विजय, पुराणी अदावत मिटे ,

अष्टभुज देखना ( दुर्गा माता देखना )

शीघ्र ही भोगोलिक क्र्त्यसम्पन्न ,

अस्त्र-शस्त्र देखना

परेशानी दूर होगी ,

आश्रम देखना

जीवन में स्थिरता का संकेत ,

अनजान औरत से प्रेम करना देखना –

विवाह होगा ,

अनजान औरत को दूर जाते देखना –

आशाएं पूर्ण होंगी ,

अविवाहित लड़की को घर पर देखना –

विवाह का सूचक ,

अनजान औरत के साथ मैथुन करते देखना –

रोग का सूचक ,

अनजान लड़की का चुम्बन लेना देखना

धनि होने का सूचक ,

अनजान औरत से प्रेम लेना –

गरीबी का लक्षण , कर्ज ,

अनजान औरत के हाथ देखना ( एक हाथ केवल ) –

शांति ,

अनजान औरत के हाथ देखना – ( अनेक हाथ )

अशांति ,

अनजान पुरुष के साथ युद्ध देखना –

झगड़ा, विवाद ,

अदालत देखना –

शुभ , सम्रद्धि ,

अग्नि देखना –

अशुभ , म्र्त्युदायक कष्ट ,

अग्नि देखन ( स्वयं का घर जलना )

रोग वृद्धि अथवा ऋण वृद्धि ,

अग्निशाला या पकता भोजन देखन –

रोग मुक्ति अथवा ऋण मुक्ति ,

अजगर देखना –

विवाह

अजगर मारना देखना –

शत्रु पर विजय चिंता-मुक्ति

अन्धलोक देखना

विपत्ति में पड़ने का सूचक ,

अंगुली देखना ( फांक-फांक )

गरीबी का सूचक ,

अशोक वृक्ष

हठात शोक ,

अस्पष्ट देवी-देवता देखना

उन्नति की आशा ,

आघात या प्रचुर रक्त बहना –

अधिक धन लाभ .

अंगूठी खरीदना –

शांति,

अंगूठी पर मीणा करते देखना –

संतान लाभ,

अंगूठी हाथ में लेकर देखना –

मान-सम्मान में ब्रद्धि ,

आम देखना

सिद्धि लाभ ,

अनार देखन

साधन लाभ या उन्नति ,

आम देखना ( गिरा हुआ )

सपूत सन्तान की प्राप्ति ,

आम का पेड़ देखना

विवाद

अंगूठी बेचना या टूटना

स्त्री कष्ट, अशांति,

आलू देखना

बदनामी,

आलू पेड़ में देखना

दुःख, कष्ट,

आशा पूर्ण होना

सम्मान में हनी ,

आशा अपूर्ण होना

प्राप्ति योग,

अमीर बनते देखना

लाभ,

आकाश बादलों से घिरा देखना

रोजगार में ब्रद्धि,

आकाश काटना

वर्षा व् फसल में उन्नति ,

अपने मृत को जीवित देखना

दुःख ,

अपनी देह को ब्रहना देखना

मानसिक शांति,

अपनी देह को कीड़ों से भरे देखना

विख्यात होने का सूचक ,

अपनी म्रत्यु देखना

पीड़ा,

अपने को भूखा देखना

सन्तान हानि ,

अपने को पानी में डूबता देखना

मुकद्दमा होगा,

अपने मुहं में सूर्य की आभा देखना

प्रचुर धन प्राप्ति ,

अपने बाल कटे देखना

आर्थिक कष्ट ,

अपने बाल अपने ही आप काटना देखना

ऋण मुक्ति ,

अपना शारीर दो भागों में देखना – पुत्र या दोस्त की प्राप्ति ,

Read More »Dream

Daan ke prakar

आमतौर पर सभी धर्मों में दान देने की प्रथा वर्षों से चली आई है । गृह मनुष्य के जीवन पर शुभ-अशुभ प्रभाव डालते हैं, यह बात विवाद के परे है । ग्रहों को अनुकूल करने के लिए स्नान, पूजा, जाप और दान ये चार मुख्य उपाय हैं । लाल किताब का सम्पूर्ण आधार उपाय और दान ही है । दान… Read More »Daan ke prakar

Ichhanusar santan

।। इच्छानुसार सन्तान ।। ऋतु से चोथे दिन से लेकर सोलहवें दिन तब गर्भधारण का समय है । शंखवली और गोदुग्ध पान कर स्वामी के वाम पाशर्व में शयनं कर स्वामी से पुत्र की कामना प्रकट करनी चाहिए । सूर्यंनाडी और चन्द्रनाडी को एकत्र कर गर्भाधान करने से पुत्र उत्पन्न होता है । सूर्य चन्द्र का संयोग करके अर्थात रात्रि… Read More »Ichhanusar santan

Til

ज्योतिष अंग शकुन शास्त्र में मानव प्राणी के शारीर पर टिल के निशानों का भी शुभाशुभ वर्णन प्रस्त्तुत किया है, जो निम्न प्रकार है – माथे पर तिल का निशान :- यदि माथे पर बाँए तरफ टिल का निशान हो तो जीवन परेशानी दायक परन्तु दांये तरफ टिल के निशान से प्रसन्नता, सुख, सम्रद्धि एवं धन प्राप्ति करता है ।… Read More »Til