Home » Puja

Puja

Ganesh chaturthi 2021

“Ganesh chaturthi 2021 date” गणेश चतुर्थी

गणेश चतुर्थी हिन्दुओं का एक पवित्र त्यौहार है. इस त्यौहार को सम्पूर्ण भारत वर्ष में मनाया जाता है. गणेश चतुर्थी का त्यौहार भारत वर्ष का बहुत बड़ा त्यौहार है, इस त्यौहार को भारत में हर घर में मनाया जाता है. पूजन में सभी देवी-देवताओं में सर्वप्रथम गणेश जी की पूजा की जाती है. गणेश चतुर्थी कब है? गणेश चतुर्थी, जिसे… Read More »“Ganesh chaturthi 2021 date” गणेश चतुर्थी

Ekadasi vrat katha

Ekadashi Vrat

।। एकादशी व्रत ।। ।। चैत्र शुक्ता कामदा एकादशी ।। चैत्र मॉस की शुक्ल पक्ष की एकादशी को कामदा एकादशी कहते हैं । कथा : – प्राचीन समय में पुंडरिक नामक एक राजा नागलोक में राज्य करता था । उसका दरबार किन्नरों व् गन्धर्वों से भरा रहता था । एक दिन गंधर्व ललित दरवार में गाना कर रहा था की… Read More »Ekadashi Vrat

Budhwar vrat katha

Budhvar Vrat

।। बुधवार व्रत करने की विधि ।। गृह शांति तथा सर्व-सुखों की इच्छा करने वालो को बुधवार का व्रत करना चाहिए । इस व्रत में दिन-रात में एक ही बार भोजन करना चाहिए । इस व्रत के समय हरि वस्तुओं का उपयोग करना श्रेष्ठ है । व्रत के अंत में शंकर जी की पूजा, धूप, बेल-पात्र आदि से करनी चाहिए… Read More »Budhvar Vrat

Brahspatiwar vrat

Brahaspativar Vrat

।। वृहस्पतिवार व्रत करने की विधि ।। इस दिन भगवान् विष्णु जी की पूजा होती है । दिन में एक समय ही भोजन करते हैं । पीले वस्त्र धारण करें, पीले फलों का प्रयोग करें । भोजन भी चने की दाल, पीले कपडे तथा पीले चन्दन से पूजा करनी चाहिए । पूजन के पश्चात् कथा सुननी चाहिए । इस वृत्त… Read More »Brahaspativar Vrat

Vrat ke niyam व्रत के नियम

व्रत करने वाले व्यक्ति को क्रोध, लोभ, मोह, आलस्य, चोरी, इर्ष्या आदि नहीं करना चाहिए । व्रती को क्षमा, दया, दान, शौच, इन्द्रिय निग्रह देव पूजा, अग्नि होत्र और संतोष से काम करना उचित और आवश्यक है । व्रत के समय बार-बार जल पीने, दिन में सोने, तम्बाकू चवाने और स्त्री सहवास करने से व्रत बिगड़ जाता है । जल,… Read More »Vrat ke niyam व्रत के नियम

Durga chalisa दुर्गा चालीसा

।। दुर्गा चालीसा ।। नमो नमो दुर्गे सुख करनी । नमो नमो अम्बे दुःख हरनी ।। निरंकार है ज्योति तुम्हारी । तिहुं लोक फैली उजियारी ।। शशि ललाट मुख महा विशाला । नेत्र लाल भ्रकुटी विकराला ।। रूप मातु को अधिक सुहावे । दरश करत जन अति सुख पावे । तुम संसार शक्ति लय कीन्हा । पालन हेतु अन्न धन… Read More »Durga chalisa दुर्गा चालीसा

Hanuman chalisa हनुमान चालीसा

।। दोहा ।। श्री गुरु चरन सरोज रज निज मनु सुधारि । बरनऊ रघुवर बिमल जसु जो दायकु फल चारि ।। बुद्धिहीन तनु जानिके सुमिरौं पवन-कुमार । बल, बुद्धि विद्या देहु मोहिं, हरहु कलेश विकार ।। ।। चौपाई ।। जय हनुमान ज्ञान गुन सागर । जय कपीस तिहूँ लोक उजागर ।। राम दूत अतुलित बल धामा । अंजनि पुत्र पवनसुत… Read More »Hanuman chalisa हनुमान चालीसा