Home » Archives for Goodluckastro123

Goodluckastro123

Rahu pain remedies

राहू पीड़ा के उपाय (Rahu pain remedies)

Rahu pain remedies:-If Rahu is in an inauspicious position in the birth, then to avoid it, taking a bath mixed with the perfume of musk, turpentine, rajdantbhasma, frankincense and sandalwood gives peace from the pain of Rahu. For this special care should be taken of Nakshatra, Yoga, day, direction and time.Rahu’s donationFor the relief of Rahu’s pain, the person should… Read More »राहू पीड़ा के उपाय (Rahu pain remedies)

effect of directions

Effect of direction(दिशा विशेष का प्रभाव)

The four directions and the four directions have their own effect. They have different special functions. Keeping this fact in mind, at the time of construction of any type of Vastu, one should take advantage of the effects of a particular direction. We will go to this effect further in this post, so you should read it carefully. East:-East direction… Read More »Effect of direction(दिशा विशेष का प्रभाव)

vastu tips

How to select land according to vastu shastra

When we choose land for house, shop, office, factory etc., then we get many types of land. Which are from this type. In common parlance, ‘Veethi’ means ‘obstacle’ or ‘obstacle’. The meaning of ‘Veethi’ in Vastu Shastra, though similar to a hindrance or obstruction, is slightly different. In various texts of Vastu Shastra, the meaning of ‘Veethi’ has been taken… Read More »How to select land according to vastu shastra

Baruthani Ekadashi

Baruthani Ekadashi

बैशाख मॉस की कृष्ण पक्ष की एकादशी को यह मनाई जाती है. इस दिन व्रत करके जुआ खेलना, नींद, मदिरा पान, दंतधानव, परनिंदा, स्रुद्रिता, चोरी, हिंसा, रति, क्रोध तथा झूठ को त्यागने का महात्मय है. एसा करने से मानसिक शांति मिलती है. व्रती को फलाहार खाना चाहिए. परिवार के सदस्यों को रात्रि को भगवद भजन करके जागरण करना चाहिए. कथा… Read More »Baruthani Ekadashi

achla ekadashi vrat katha

Achla Ekadashi

ज्येष्ठ मॉस की कृष्ण पक्ष की एकादशी को अचला एकादशी कहते है. इसे अपर एकादशी भी कहते है. इस व्रत के करने से ब्रह्महत्या, परनिंदा, भुतयोनि जैसे निक्रष्ट कर्मों से छुटकारा मिल जाता है तथा कीर्ति, पुन्य एवं धन धान्य में अभी वृद्धि होती है. कथा :- प्राचीन कला में महीध्वज नामक धर्मात्मा राजा राज्य करता था. विधि की बिडम्बना… Read More »Achla Ekadashi

Nirjala Ekadashi

Nirjala Ekadashi

ज्येष्ठ मॉस की शुक्ल पक्ष की एकादशी को निर्जला एकादशी कहते हैं. इस व्रत में पानी का पीना वर्जित है, इसलिए इसे निर्जला एकादशी कहते हैं. वर्ष भर की चौबीस एकादशियों में से ज्येष्ठ शुक्ला निर्जला एकादशी सर्वोत्तम मानी गई है. इसका व्रत रखने से साड़ी एकादशियो के व्रतों का फल मिल जाता है. विधान :- यह व्रत नर एवं… Read More »Nirjala Ekadashi

kamda ekadashi

Kamda ekadashi Vrat

।। एकादशी व्रत ।। ।। चैत्र शुक्ता कामदा एकादशी ।। चैत्र मॉस की शुक्ल पक्ष की एकादशी को कामदा एकादशी कहते हैं: कथा : – प्राचीन समय में पुंडरिक नामक एक राजा नागलोक में राज्य करता था । उसका दरबार किन्नरों व् गन्धर्वों से भरा रहता था । एक दिन गंधर्व ललित दरवार में गाना कर रहा था कि अचानक… Read More »Kamda ekadashi Vrat

Navgrah

Kundali details online2

कुंडली की सम्पूर्ण जानकारी के लिए आपको इस पोस्ट को भी पढना होगा जिससे आपको Kundali details online की सम्पूर्ण जानकारी हो सके. सुप्त गृह : जिस घर में कोई गृह बैठा हुआ हो, उसके सामने वाले घर में कोई गृह न हो तो वह सुप्त गृह कहलाता है. उदाहरण : पहले घर में यदि ब्रहस्पति बैठा हो और उसके… Read More »Kundali details online2